गोधूली एप्प अब प्ले स्टोर पर उपलब्ध

स्वर्णप्राशन आरम्भ करने का अगला शुभ

पुष्यनक्षत्र: 29 अक्टूबर

Gaudhuli App

Now on Play Store
  • बाँस से बनी राखीयां (पर्यावरणपूरक रक्षासूत्र)/ Handmade Bamboo Rakhi (Environment friendly)

    त्यौहार खुशियाँ लेकर आते है और यह खुशियाँ आने वाली पीढ़ियों को भी त्यौहारों पर मिलती रहनी चाहिए  

    अतः हमें ही यह सुनिश्चित करना है कि त्यौहारों के पश्चात किसी प्रकार से पर्यावरण को हानि न पहुंचे

    अतः करे एक प्रयास पर्यावरण संतुलन और सांस्कृतिक सामर्थ्य बनाये रखने का ।
    खरीदिए आदिवासी कारिगरो द्वारा हस्तनिर्मित बांस की पर्यावरणपूरक राखियाँ

    इसके अतिरिक्त इन राखियों को प्रयोग करने से आदिवासी कारीगरों  को रोज़गार मिलेगा जिनकी जीविका इसपर निर्भर है 

    गुरूजी रविंद्र शर्मा जी के सानिध्य में रहे हमारे मित्र सुनील देशपांडे जी जो बाँस के विशेषज्ञ थे उनका देहांत हाल में हुआ

    अतः हम उनके परिवार एवं उनसे जुड़े कारीगरों को सहयोग करने हेतु और भी बांस के उत्पादों को आपके लिए उपलब्ध करवाने का प्रयास कर रहे है।  

    यह प्रयास आपके सहयोग से ही संभव होगा 

    ***************************************************

    Festivals brings happiness and joy to us and all around us and this should continue for our future generations. 

    So let’s try and celebrate in a way which does not harm the environment.

     Let’s make an effort to balance environment and cultural heritage.

    Let’s celebrate Raksha Bandhan with handmade Bamboo Rakhis which are made by tribal artisans and are environment friendly.

    This also an honest effort to support our friend Late Shri Sunil Deshpande who established Karigar Panchayat, who recently passed away.

    He was instrumental in creating jobs for thousands of Bamboo artisans. 

    We are trying to support his family and cause by promoting their products on our website. 

    That effort will not be possible without your support.   

     

    35.0060.00

Main Menu