गोधूली एप्प अब प्ले स्टोर पर उपलब्ध

स्वर्णप्राशन आरम्भ करने का अगला शुभ

पुष्यनक्षत्र: 10 अप्रैल

Gaudhuli App

Now on Play Store
  • Medohar Rasayanam / मेदोहर रसायनम 60 Tablets

    Description

    आयुर्वेद के विभिन्न ग्रंथों में वजन को कम करने वाली अनेक औषधियों का वर्णन किया गया है। जिसमें अग्निमाध, त्रिकूट, चित्रक, इत्यादि मुख्य है। ऐसी औषधियों का संयोजन करके मेदोहर टैबलेट बनाया गया है।

    लाभ:

    • शरीर का वजन कम करता है।
    • शरीर में मेदवृद्धी को दूर करके शरीर को हल्का बनाता है।
    • शरीर में आम का पाचन करता है, इसलिए अनेक रोगों में लाभदायी है।
    • शरीर से केवल मेद (FAT) को दूर करता है प्राकृतिक विटामिन इत्यादी को कम नहीं करता है इसिलिए कमजोरी नहीं आती है व स्फूर्ति बनी रहती है।
    150.00
  • Thai Cure Capsules/थाई क्योर कैप्सूल 30 कैप्सूल

    Description

    Products Key Ingredients : Kanchanar, Guggul, Arogyavardhini Vati

    Shastrokt (Vedic) Importance : Thyroid is known as ‘granthishodh’ disease in Ayurveda and its shastriya treatment is given in various granthas.

    Relevant Sastrokt Reference :
    कांचनार त्वचक्वाथ शुण्ठी चूर्णेन नाशयेत्।
    सकृतपीतः क्वाथ: वरुण मूलज:।
    गण्डमालां हरत्याशु चिरकालानुबंधीनीम्।।

    Ayurved Vidhan : BhavPrakash

    Why To consume : To treat thyroid irregularity.

    Who Can Consume : Anyone suffering from thyroid.

    सेवनविधि :

    सुबह-दोपहर-शाम भोजन के बाद 1-1 कैप्स्यूल पानी के साथ लें।

    150.00
  • Giloy Ghanvati/गिलोय घनवटी 60 Tablets

    Description

    Shastrokt (Vedic) Importance : Giloy(Guduchi) is called a divine medicine in Ayurveda. It is the best medicine for curing fever and to prevent from various viral and infectious diseases. Its consumption keeps the body healthy.

    Relevant Mantra :कन्दोद्भवा गुडूची च कटूष्णा संनिपातहा। विषघ्नी ज्वरभूतग्नी क्लीपलितनाशिनी।।

    Ayurved Vidhan : Bhaishajya Ratnavali

    Why to Consume : Very beneficial to cure fever and viral infections.

    Who Can Consume : Anyone

    90.00
  • Vidang Tandul Capsules (Anti-Viral)/विदांग तांडुल कैप्सूल (एंटी-वायरल) 30 Capsules

    Description

    Shastrokt (Vedic) Importance : : ‘Vidango krumadhnanaam” sutra from Charak Samhita describes vidang as anti-bacterial and anti-viral. ‘Sarvopadhaatshamneeya’ chapter of Sushrut Samhita talks about the medicines which provide protection against all kinds of effect-generated diseases. This medicine works very well to remove toxins and viral residues (visha tatva) from the body.

    Relevant Mantra :तत्रविडंगतन्डुलचूर्णमाहृत्य यष्टिमधुयुक्तं यथाबलं चानूपिबेत्।

    Ayurved Vidhan : Sushrut Samhita

    Why to Consume : : It helps cure all kind of skin diseases. It purifies the blood, cleanses the sapta dhatu and is very beneficial in all types of cancer. For any infectious or viral diseases, it has to be taken for 3 months.

    Who Can Consume : Anyone

    200.00
  • Clear Art Tablets / क्लियर आर्ट टैबलेट 30 टैबलेट

    Description

    यह औषधि Heart में हुए ब्लॉकेज के लिए अति उत्तम होती है।

    हृदय के सभी प्रकार के विकारों में यह उत्तम लाभ देती है।

    हृदय की गति को नियमित कर के हृदय को बल देती है।

    सभी प्रकार के ब्लॉकेज में बहुत उपयोगी होती है।

    प्राण गति को सुदृढ़ बनाती है।

    150.00
  • Soravan Capsules/सोरवन कैप्सूल 30 Capsules

    Description

    आयुर्वेद के विभिन्न ग्रंथों में विविध चर्म रोगों का वर्णन किया गया है। इसमें सबसे जटिल रोग कुष्ठ (सोरायसिस) को माना गया है। किंतु उत्तम पथ्य-परहेज का पालन करके कुछ औषधियों के सेवन से इसमें बहुत ही लाभ प्राप्त हुआ है। सोरायसिस में इस सोरावन कैप्स्यूल्स का प्रयोग करने से उत्तम लाभ प्राप्त होता है। चर्म रोगों के सामने असर कारक बनाने के लिए इसमें गंधक, नीम, करंज, कमल इत्यादि औषधीओं का संयोजन किया गया है।

    लाभ:

    • सोरायसिस एवं अन्य चर्म रोग में बहुत उपयोगी है।
    • रक्त को शुद्ध करके चर्म रोगों में लाभ देता है।

     

    Shastrokt (Vedic) Importance : Ayurveda prescribes treatment for psoriasis and various skin diseases with various natural medicinal herbs. Such medicinal herbs have been combined to make this aushadhi.

    Why to Consume : Useful for psoriasis and all types of skin diseases.

    Who Can Consume : Anyone

    150.00
  • Jivanti Capsules/जिवंती कैप्सूल 30 Capsules

    Description

    लाभ :

    • जीवंती तीनों दोषों का नाश करती है इसलिए त्रिदोषजन्य रोगों में लाभदायी है ।
    • यह द्रष्टिशक्तिवर्धक होने के कारण द्रष्टिमांद्य में अतीव लाभदायी है ।
    • जीवंती बल्य, ओजवर्धक और रसायनी होने के कारण क्षय, यक्ष्मा, दौर्बल्य आदि रोगों में उपयुक्त है ।
    • यह वृष्य और स्तन्यजनन होने के कारण शुक्रमेह और स्तन्य अल्पता में लाभकारी है ।
    • यह स्नेहन, अनुलोमन और ग्राही है । यह कोष्ठगत रुक्षता, विष्टम्भ और ग्रहणी रोग मिटाता है ।
    • जीवंती हृद्य और रक्तपित्तशामक है इसलिए हृदय की दुर्बलता और रक्तपित्त को दूर करता है ।

    सेवनविधि :

    सुबह-दोपहर-शाम १-१ कैप्सूल पानी के साथ लें ।

    १२ साल तक की आयुवाले बच्चों को आधी मात्रा में औषध दें ।

    सेवनयोग्य व्यक्ति :

    १ साल से अधिक आयुवाला कोई भी व्यक्ति इसका सेवन कर सकता है ।

    CONTAINS :

    Jivanti

    Net Volume : 30 Capsules

    Who can consume : Anyone above the age of 1 year can consume.

    150.00
  • Haridrakhand Rasayanam Capsules / हरिद्रखंड रसायनम कैप्सूल 30 कैप्सूल

    Description

    Shastrokt (Vedic) Importance : Haridra is considered a very potent medicinal herb for curing skin diseases and purifying blood. Ayurveda text ‘Bhaishajya Ratnavali’ describes the method and process of making this rasayanam with ‘paak vidhi’. This is made using that shastriya process.

    Relevant Mantra :शीतपपित्तं विद्रधिंच दद्रुं चर्मदलं तथा। अजीर्णं कामलां चैव श्वयुंच विनाशयेत्।।

    Ayurved Vidhan : Bhaishajya Ratnavali

    Why to Consume : It helps cure all kind of skin diseases. It purifies the blood, cleanses the sapta dhatu and is very beneficial in all types of cancers.

    Who Can Consume : Anyone

    200.00
  • Granthibhed Capsules / ग्रंथीभेद कैप्सूल 30 कैप्सूल

    Description

    Products Key Ingredients : Punarnava, Varun, Kaanchanaar

    Shastrokt (Vedic) Importance : This ‘yog’ of combination is prescribed in Ayurveda as very helpful in glands related diseases

    Relevant Sastrokt Reference :
    पुनर्नवा श्वेतामूला शोदघ्नी दीर्घपत्रिका कटु कषायनुरसा पाण्डुघ्नी दीपनी परा।।

    Ayurved Vidhan : BhavPrakash

    Why To consume : To help stop bleeding

    Who Can Consume : Anyone

    सेवनविधि :

    सुबह-दोपहर-शाम भोजन के बाद 1-1 कैप्स्यूल पानी के साथ लें।

    150.00

Main Menu