गोधूली एप्प अब प्ले स्टोर पर उपलब्ध

स्वर्णप्राशन आरम्भ करने का अगला शुभ

पुष्यनक्षत्र: 22 दिसंबर

Gaudhuli App

Now on Play Store

Book: पुस्तक: स्मृति जागरण के हरकारे (गुरुजी रविन्द्र शर्मा जी को समर्पित) – Guruji Ravindra Sharma ji

290.00300.00 (-3%)

In stock

रविंद्र शर्मा गुरूजी
हमारे समय के ऐसे विद्वान जिनका परिचय देना ही अपने आप में एक चुनौती है

Spread The Word / गुणवत्ता का प्रचार करें
Spread The Word / गुणवत्ता का प्रचार करें

गुरुजी रविन्द्र शर्मा जी का परिचय देना कठिन सा लगता है। जो उनके निकट रहे उनके लिए तो लगभग असंभव है। एक ही व्यक्ति को 66 विभिन्न प्रदेशों के लोग अपनी अपनी दृष्टि से वर्णित करने का यह अद्भुत उदाहरण है यह पुस्तक।

इस पुस्तक से अर्जित राशि (यदि अर्जित हो पाई) कों गुरुजी के विचारों को प्रसारित करने के कार्यक्रमो में खर्च की जाएगी।

Youtube Channel:

 

रविंद्र शर्मा गुरूजी
हमारे समय के ऐसे विद्वान जिनका परिचय देना ही अपने आप में एक चुनौती है

स्मृति-जागरण के हरकारे

इस पुस्तक के शीर्षक का अर्थ है की गुरुजी रविंद्र शर्मा जी जिन्होंने हमारे प्राचीन भारत की ग्राम एवं उसकी अनगिनत व्यवस्थाओ की स्मृति को हमारे मानस में पुनः जागृत किया हरकारे का सादे शब्दों में अर्थ होता है “संदेशवाहक”

जिनको धर्मपाल जी ने देश के बहादुर लोगो की श्रेणी में रखा था और राजीव भाई भी इनसे आकर ज्ञान लिया करते थे उन गुरूजी को समर्पित यह पुस्तक उनके निकट रहे रहे 66 लोगो द्वारा अपनी अपनी दृष्टि से उनका परिचय देने का प्रयास किया है उस प्रयास में सफलता मिली या नहीं यह तो ज्ञात नहीं परन्तु गुरूजी के जीवन और चरित्र के विषय में इतनी अद्भुत जानकारियां मिलती है की ऐसे पाठक का ऐसे महान व्यक्तित्व को कोटि-कोटि प्रणाम करने का मन हो उठता है जो हमारे समयकाल में उपस्थित थे

Additional information

Weight 500 g

Customer Reviews

Based on 1 review
100%
(1)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
N
Nermal upadhayaya
Must Buy Book

Those who want to understand the "Bharatiya Gram Vavastha" then must read this book.

See It Styled On Instagram

    Instagram did not return any images.

Main Menu

Book: पुस्तक: स्मृति जागरण के हरकारे (गुरुजी रविन्द्र शर्मा जी को समर्पित) - Guruji Ravindra Sharma ji

290.00300.00 (-3%)

Add to Cart