गोधूली एप्प अब प्ले स्टोर पर उपलब्ध

स्वर्णप्राशन आरम्भ करने का अगला शुभ

पुष्यनक्षत्र: 01 जुलाई

Nabhi Tailam/ नाभि तैलम(Drop for navel problems) 15ml

150.00

Out of stock

CONTAINS :

Moringa Tailam: 20 %

Hing Ark: 20 %

Kushtha Tailam: 20 %

Kalonji Tailam: 20 %

Nirgundi Tailam: 20 %

Compare
Spread The Word / गुणवत्ता का प्रचार करें
Spread The Word / गुणवत्ता का प्रचार करें

यह नाभि सम्बंधित रोगों के लिए लाभकारी है |

It is beneficial for diseases related to the navel

बाहरी उपयोग में लाने हेतु निर्मित (नाभि)

Made for external use (as navel drop)

पंचगव्य बूंद औषध (नाभि) बाहरी उपयोग के लिए बहुउपयोगी,  दर्द में इससे मसाज भी कर सकते है

  1. यह घृत में बना है अत: यदि जमा हुवा है तो बोतल को गर्म जल में डूबकर गुनगुना कर लें और पूर्णतः तरल हो जाने पर ही प्रयोग करें
  2. नाभि में रात्रि में 4 -5 बूंद डाल सकते है (उपयूक्त समय रात्रि शयन से पूर्व है)

आप अपनी त्‍वचा संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए पहले घी को हल्‍का गर्म करें। इसके बाद आप घी की कुछ बूंदों को अपनी नाभि में डालें। अपनी उंगलियों में अतिरिक्‍त रूप से घी लेकर अपनी नाभि के चारों ओर लगाएं और मालिश करें। यह प्रक्रिया रात में सोने से पहले अधिक प्रभावी होती है।

Panchgavya ghrit in drop form for navel is very useful for external use,  if required can also be used for massage for pain

  1. It contains Ghee, do not freeze and if it is frozen due to weather etc. then use warm water to melt it first before using. Only use when it’s in pure liquid form.
  2. use 3 to 5 drops in navel. For best results use just before bedtime.

Additional information

Weight 75 g

See It Styled On Instagram

    No access token

Main Menu