• Kafshamak Sudha / कफशामक सुधा (200ml)35

    कफ सिरप का देसी विकल्प, घर में सदा रखें

    कफ रोगों के लिए

    • श्वांस
    • कांस
    • जुकाम
    • खांसी
    • कफ
    • ज्वर
    • शोथ
    • क्षय रोगो में लाभकरी
    160.00
  • Garbh Poshak Syrup / गर्भ पोषक सिरप – 200ml

    गर्भ पोषक सिरप

    गर्भावस्था में 1 से 9 महीने तक सेवनीय

    मात्रा: प्रतिदिन 2 – 2 चम्मच दिन में तीन बार भोजन के बाद सेवन करें

    जीवंती, शतावरी, शतपुष्पा जैसी गर्भ पोषक औषधियों का क्वाथ करके यह syrup बनाया जाता है । यह Chemical processed शुगर (चीनी) के बदले प्राकृतिक खड़ी शक्कर से बना संभवतः भारत का सर्व प्रथम सिरप है ।

    इस syrup के नियमित सेवन से गर्भ का विकास एवं पोषण होता है एवं गर्भावस्था में होनेवाली विविध समस्याओं से मुक्ति मिलती है । इसका स्वाद अच्छा होने के कारण यह आसानी से लिया जा सकता है । इससे उल्टी इत्यादि की समस्या नहीं होती है

    120.00
  • Vaat Rog Har Syrup / मंत्रौषधि वात रोग हर सिरप – 200ml

    लाभ: वात रोग जनित दर्द से आराम हेतु

    सेवन: बच्चो के लिए : 1 चम्मच दिन में तीन बार
    बड़ो के लिए:   2 चम्मच दिन में तीन बार या चिकित्सक का परामर्शानुसार

    120.00
  • Welcome Teeth / दन्त स्वागत – 15ml

    बच्चो के दाँतों का स्वागत करें वेलकम टीथ के साथ

    लाभ: छोटे बच्चो को दांत आते समय होने वाले अतिसार, पेट दर्द, बुखार आदि में लाभकारी

    150.00
  • Matru Care Syrup (After Delivery) / मातृ केयर सिरप (प्रसूति के बाद सेवनीय)- (200ml)

    प्रसूति के बाद सेवनीय

    मातृ केयर सिरप

    खांड से निर्मित
    ***********

    घटक: (प्रति 200 ml)

    • दशमूल क्वाथ – 20%
    • देवदारवादी क्वाथ – 20%
    • मेथी दाना  – 20%
    • सतपुष्पा – 20%
    • सूंठी – 20%
    लाभ :
    • प्रसूति पश्चात गर्भाशय को शुद्ध करें
    • माता के दूध को बढ़ाने में सहायक
    • प्रसूता के लिए उपयोगी एवं प्रसूति पश्चात के दर्द से बचाएँ
    उपयोग: 

    प्रसूतावस्था के बाद 3 महीने तक दिन में तीन बार (प्रातः, दोपहर, सांय) 2 चम्मच सेवन करें

    ****************************************************

    To be used after delivery

    Matru Care Syrup

    Each 200ml Contains:

    • Dashmool Kwath- 20%
    •  Devdarvadi Kwath – 20%
    • Methi Dana- 20%
    • Satpushpa- 20%
    • Soonthi – 20%
    Benefits:
    • Purifies Uterus after delivery
    • Increase lactation in mothers post delivery
    • Useful in pain caused due to delivery.

     

    Usage –

    Take 2 teaspoon syrup three times a day (Morning-Afternoon-Evening)

     

    120.00
  • MestroGreen Capsules (Veg) – मासिक संबंधित समस्याओ के लिए (30 Capsules) (Not for PREGNANT LADIES)

    मासिक संबंधित समस्याओ के लिए

    MestroGreen Capsules (Veg)

    घटक (प्रत्येक 500mg कैप्सूल में है):
    1. रज:प्रवर्तिनीवटी 150 mg
    2. कन्यालोहादि वटी – 150 mg
    3. हींगु (निर्यास) – 100 mg
    4. शुद्ध सुहागा -100 mg
    लाभ :
    • मासिक धर्म की गड़बड़ी दूर करके मेन्सिस साईकल को नियमित करें ।
    • गर्भाशय को शुद्ध करके गर्भाशय की विकृतियों को दूर करें ।
    • गर्भाशय का पोषण करके गर्भाशय को सबल बनाता है ।
    उपयोग: 

    सुबह-दोपहर-शाम एक कैप्सूल पानी के साथ लें ।

    किसको लेना चाहिए: 
    • मेन्सिस अनियमित हो या किसी भी मासिकधर्म संबंधित विकृति में किसी भी आयु की स्त्री सेवन कर सकती है ।

    चेतावनी:

    • गर्भावस्था में इसका सेवन न करें

    **************************

     

    ONTAINS : Each 500 mg capsule contains

    1. Rajah Pravartini Vati: 150 mg
    2. Kanyalohadi Vati: 150 mg
    3. Hing Niryas: 100 mg
    4. Shuddha Suhaga: 100 mg
    Benefits:
    • Very useful in making periods regular
    • Makes Uterus healthy and gets rid of its other problems
    • Nourishes Uterus and makes it strong
    Usage –

    Take one capsule three times a day (Morning-Afternoon-Evening) with water.

    Who Should Take it:
    • Any lady suffering from irregular periods or any other mensuration related problems can take this.

    CAUTION : Who Should NOT Take it:

    • Should not be consumed during pregnancy

     

    160.00
  • LeucoGreen Syrup / ल्यूकोग्रीन सिरप – मासिक संबंधित समस्याओ के लिए (200ml) Not for PREGNANT LADIES)

    मासिक संबंधित समस्याओ के लिए

    LeucoGreen Syrup / ल्यूकोग्रीन सिरप

    घटक:

    1. द्रव्यादि क्वाथ – 100 mg
    2. मायाफल – 50 mg
    3. पुष्यानुग चूर्ण – 100 mg
    4. लोधर चूर्ण – 100 mg
    5. तनकानखर – 25 mg
    6. धावादी – 50 mg
    7. पतंगा – 50 mg
    8. उशीर – 25 mg
    लाभ :
    • यह सिरप स्त्रियों के प्रदर रोग में बहुत लाभदायी है ।
    • महिलाओं के श्वेत प्रदर, रक्त प्रदर एवं प्रदर के कारण होनेवाली विभिन्न तकलीफों को बहुत फायदा करता है ।
    • अनेक महिलाओं को प्रदर के कारण शरीर में कमजोरी आती है और शरीर निरंतर घिसता जाता है, ऐसे रोगों में “ल्युकोग्रीन सिरप” शरीर का घिसना बंध करके शरीर को स्वस्थ और सबल बनाता है ।
    • गर्भाशय के विभिन्न दोषों को दूर करके गर्भाशय को शुद्ध एवं सबल बनाता है ।
    • मासिक की विविध समस्याओं का निराकरण करके स्त्री को संपूर्ण स्वस्थ बनाता है ।
    उपयोग: 

    सुबह-दोपहर-शाम भोजन के बाद 2-2 चम्मच समभाग (अर्थात जितने चम्मच औषधि उतना ही पानी) पानी के साथ लें ।

    किसको लेना चाहिए: 
    • प्रदर रोग से पीडित कोई भी महिला एवं स्वस्थ महिला भी स्वस्थ रहने के लिए इसका सेवन कर सकती है ।
    • अनियमित मासिक आता हो ऐसी महिला भी इसका सेवन कर सकती है ।

     

    चेतावनी:

    • मासिक स्त्राव अधिक मात्रा में आता हो ऐसी महिला इसका सेवन न करें ।

    • गर्भावस्था में इसका सेवन न करें

     

    *******************

    Contains:

    • Darvyadi Kwath: 100 mg
    • Mayafal: 50 mg
    • Pushyanug Churna: 100 mg
    • Lodhar Churna: 100 mg
    • Tankankhar: 25 mg
    • Dhavadi: 50 mg
    • Patanga: 50 mg
    • Ushir: 25 mg
    Benefits:
    • This Syrup is very useful in Leucorrhea
    • Helps in different problems due to all type of Leucorrhea
    • Very useful in weakness due to Leucorrhea
    • Takes care of Uterus related problems and make it strong and very healthy.
    • Takes care of many period related problems and hence increases overall health.

     

    Usage –

    Take 2 teaspoon syrup three times a day (Morning-Afternoon-Evening) after meal mixed with equal amount of water.

    Who Should Take it:
    • Any lady who is suffering form Leucorrhea
    • Syrup can also be taken for general health by ladies.
    • Any lady who is sufferings from irregular periods can also consume it

    CAUTION : Who Should NOT Take it:

    • Ladies suffering from Excess Bleeding during period should not take it.
    • Should not be consumed during pregnancy

     

    150.00

Cart

No products in the cart.

Filter Products