कश्यप संहिता में वर्णित अपने बच्चो को दें इम्युनिटी और विलक्षण बुद्धि का आयुर्वेदिक उपहार : "स्वर्णप्राशन"

आरम्भ करने का अगला शुभ

पुष्यनक्षत्र: 14 जून

To know All about

Swarnprashan

  • Mashtishk Rog Nashini / मस्तिष्क रोग नाशिनी (with Glass Dropper)

    यह मस्तिष्क से सम्बंधित रोगों के लिए लाभकारी है |

    It is beneficial for diseases related to the brain.

     

    बाहरी उपयोग में लाने हेतु निर्मित (नासिका)

    Made for external use in nostrils

     

    पंचगव्य बूंद औषध (नासिका) बाहरी उपयोग के लिए उपयोगी, दर्द में इससे मालिश भी कर सकते है

    1. यह सिर से गले तक के रोगों में लाभकारी है।
    2. इस घृत को दोनों नथुनों में थोड़ा सा लगाकर घर से बाहर निकलने पर अनेकों जीवाणु/विषाणुओं से बचने में सहायता मिलेगी।
    3. बताए गए उपरोक्त लाभों के अतिरिक्त भी अनेकों अन्य अनगिनत लाभ हैं।
    180.00

Main Menu