Get Free Shipping on Mitti Products

if Mitti Products total is

Rs.999 or more

रु999 से अधिक के मिटटी उत्पादों पर पाएं

डाक खर्च फ्री

  • मंत्रौषधि स्वर्णप्राशनं / Mantroushadhi Swarnprashanam (प्रतिदिन देने के अनुसार कम से कम 5 आर्डर करें – बार बार मंगवाने के खर्च से बचने हेतु) )

    *कश्यपसंहिता में वर्णित 3 हज़ार वर्ष पुराना 
    आयुर्वेदिक टीकाकरण – स्वर्णप्राशन*

     

    • बालक की रोगप्रतिकार क्षमता बढती है
    • बालक के शारीरिक विकास में सकारात्मक गति लाता हैबालक के शारीरिक विकास में सकारात्मक गति लाता है
    • यह स्वर्णप्राशन स्मरणशक्ति और धारणशक्ति (grasping ability) बढाने वाले कई महत्वपूर्ण औषध से बना है।
    • पाचनक्षमता बढाता है
    • शारीरिक और मानसिक विकास के कारण वह ज्यादा चपल और बुद्धिमान बनता है।
    • स्वर्णप्राशन मेधा (बुद्धि), अग्नि ( पाचन अग्नि) और बल बढानेवाला है।
    • यह आयुष्यप्रद, कल्याणकारक, पुण्यकारक, वृष्य (पदार्थ जिससे वीर्य और बल बढ़ता है),
    • वर्ण्य (शरीर के वर्ण को तेजस्वी बनाने वाला) और ग्रहपीडा को दूर करनेवाला है
    • स्वर्णप्राशन के नित्य सेवन से मेधायुक्त बनता है श्रुतधर (सुना हुआ सब याद रखनेवाला) बनता है, अर्थात उसकी स्मरणशक्त्ति अतिशय बढती है।
    • Strong immunity Enhancer 
    • Ensures Physical development
    • Memory Booster
    • Makes child positively active and Intellect
    • Increased Digestive Power
    200.00
  • मंत्रौषधि जल शुद्धि बूँद / Water Purifier Drops : RO का आयुर्वेदिक विकल्प (30ml)

    RO का आयुर्वेदिक विकल्प

     

    मंत्रौषधि जल शुद्धि बूँद / Water Purifier Drops – for IDEAL pH

     

    आयुर्वेद के प्राचीन ग्रंथो में जल को शुद्ध करने के लिए विभिन्न औषधियों का वर्णन किया गया है ।

    जल को शुद्ध करनेवाली विभिन्न औषधियाँ प्रायः नदी के किनारे पर होती है और ऐसी औषधियों में निर्मलीबीज, नागरमोथ, केतकी इत्यादि मुख्य है ।

    इस प्रकार की औषधियाँ को मिश्रित करके गंगाजल में मिलाकर-गोमय भस्म का संयोजन करके विशिष्ट पद्धति से यह ड्रॉप्स बनाये जाते है ।

    फिटकरी का उपयोग होने से तो विशेष प्रभावी होता है ।

     

    प्रति 30 ml में घटक:

    1. निर्मली बीज
    2. मोरिंगा पत्ते
    3. कमल की जड़
    4. मोती का चूना
    5. फिटकरी
    6. हल्दी
    7. कढ़ी पत्ता
    8. तुलसी
    9. स्पिरुलिना  शैवाल
    10. अग्निहोत्र भस्म
    11. गंगा जल

    लाभ :

    • फिटकरी कचरे को नीचे बिठाता है ।
    • पानी में ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाता है ।
    • पानी से होनेवालें रोगों से बचाता है ।
    • पानी को पचने में हल्का बनाता है ।
    • गंगाजल से पानी शुद्ध एवं पवित्र होता है ।
    • मोरिंगा पानी को शुद्ध करता है तथा पानी में प्राण को बढ़ाता है ।
    • Spiriluma एक प्रकार का शैवाल है, जो पानी को ऊर्जायुक्त करता है ।
    • पानी को शुद्ध करने तथा Ph Value बढाने के लिए मोती के चूने का भी उपयोग किया जाता है ।
    60.00

Main Menu