Udar Sudha उदर सुधा चूर्ण /

150.00

Only 7 left in stock

पेट का First Aid

1. पेट में किसी भी कारण बढे पित्त को शांत करने वाला।

2.ग्रीष्म ऋतू के कारण बढे पित्त से होने वाली उलटी एवं दस्तों को नियंत्रित करने वाला।

3. ग्रीष्म ऋतू में होने वाले ज्वर अर्थात पित्त ज्वर में अत्यंत लाभकारी।

4. खट्टी डकार, acidity ,जी घबराना , मिचली आना , सर दर्द में तुरंत लाभकारी।

5. लू लगने एवं हैजे में अमृत धारा के साथ लेने पर विशेष लाभ।

Spread The Word / गुणवत्ता का प्रचार करें

Description

Spread The Word / गुणवत्ता का प्रचार करें

उदर अर्थात पेट के अनेक रोगो में लाभकारी चूर्ण

गुरूकुल प्रभात आश्रम गोशाला का एक विशुद्ध और प्रसिद्द उत्पाद

“उदर सुधा चूर्ण”

पेट का First Aid.

विशेषता:

1. पेट में किसी भी कारण बढे पित्त को शांत करने वाला।

2.ग्रीष्म ऋतू के कारण बढे पित्त से होने वाली उलटी एवं दस्तों को नियंत्रित करने वाला।

3. ग्रीष्म ऋतू में होने वाले ज्वर अर्थात पित्त ज्वर में अत्यंत लाभकारी।

4. खट्टी डकार, acidity ,जी घबराना , मिचली आना , सर दर्द में तुरंत लाभकारी।

5. लू लगने एवं हैजे में अमृत धारा के साथ लेने पर विशेष लाभ।

सेवन विधी: एक चम्मच चूर्ण चाट कर खाये एवं ऊपर से 1-2 घूंट पानी पिए।

लू लगने एवं हैजे : अमृत धारा 2 बूँद 1/2कप पानी से ले एवं दिन में 2-3 बार उदर सुधा चूर्ण चाट कर खाए

पथ्य: ग्रीष्म ऋतू में बेल पत्थर का गूदा या घर में बना बेल शरबत लू से बचने का श्रेष्ठ उपाय है। रसीला भोजन जैसे दलिया ,दाल चावल ,खिचड़ी खाना अच्छा है।
गौ माँ के दूध से बना मट्ठा अती उत्तम है।

अपथ्य : वायु बढ़ाने वाले रूखे भोज्य पदार्थ जैसे सूखी आलू की सब्जी और रोटी। तले,भुने व्यंजन एवं मैदा से बने पदार्थ।

Specification

Additional information

Weight 200 g

See It Styled On Instagram

    Instagram did not return any images.

Cart

No products in the cart.